Category: relationships

मर्यादा पुरषोत्तम 0

मर्यादा पुरषोत्तम

कभी कभी मैं सोचती हूँ की जहाँ पूरे विश्व में सब लोगों के लिए एक ही कायदे और कानून होते हैं वहीँ भारत में ऐसा क्यों नहीं है | मेरी बात पढ़ के चकरा गए...

0

प्रेम का अंक ग्रह

जीवन कितना सरल होता जो कुछ निभाना ना पड़ता और ना कुछ जताना पड़ता लेकिन ऐसा नहीं है | कहते हैं कि जीवन एक बहता  हुआ सागर है और उसमे जो जितना जल्दी तैरना सीखेगा...

0

#MeToo

Awwww…..Gudiya! Kitni badi ho gayi hai. Itni si thi jab yahan se gayi thi. Hum to tum sab ko bahut yaad karte the.   I met Kaku bhaiya after 20 years in Amritsar, Punjab...

मैं अँधेरा भी हूँ मैं उजाला भी हूँ 0

मैं अँधेरा भी हूँ मैं उजाला भी हूँ

मैं अँधेरा भी हूँ मैं उजाला भी हूँ अपने सारे परिवार का मैं निवाला भी हूँ मैं रास्ता दिखाने वाली बाती भी हूँ इक दूजे के मन की थाह बताती पाती भी हूँ जब थकान...

0

मैं औरत हूँ

मैं औरत हूँ |   जी हाँ मैं औरत हूँ |   अब आप पूछेंगे की इसमें  नया क्या है |   इसमें तो नया कुछ भी नहीं है लेकिन हमारे साथ क्या क्या...

0

एक पाती खुद के नाम

एक पाती खुद के नाम जब जन्मीं थी तब था खुद का खुद से रिश्ता अनमोल था वो , नहीं था सस्ता वास्ता था बस खुद का खुद से खुद से सब कब हुई...

0

फिर एक दिन

जब मिले थे हम,  सपने तुम्हारे भी थे सपने मेरे भी थे जब आसमान में उड़े थे, पंख तुम्हारे भी थे पंख मेरे भी थे जब कुछ कर गुज़रने का गज़ब का जूनून था, अरमान तुम्हारे भी...